मैं ऐसी लड़की नहीं बनना चाहती

ladki

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

मैं ऐसी बेटी नहीं बनना चाहती
जिसे माँ बाप दुनिया के डर से कैद करे
जिसके होने पे आह भरे

मैं ऐसी बीवी नहीं बनना चाहती
जिसका पति उसे जागीर समझे
जिसे देवी तो न बना सके पर खुद वो परमेश्वर बने

मै ऐसी बहिन नहीं बनना चाहती
जिसका भोझ किसी भी भाई पे हो
जिसके होने का अफ़सोस मने

मैं ऐसी माँ नहीं बनना चाहती
जिसका बेटा औरत की ही न इज्ज़त करे
जिसकी औलाद ही उसे शर्मसार करे

मैं ऐसी लड़की नहीं बनना चाहती
जिसे कोई भी बे-आबरू करे
जिसे सर बाज़ार कोई भी कुचल जाये

signature

Advertisements

8 thoughts on “मैं ऐसी लड़की नहीं बनना चाहती

  1. excellent expressions of how a female part of our society
    tortured,supressed,traumatised.in whole of her life…
    जिसे देवी तो न बना सके पर खुद वो परमेश्वर बने.
    what a line….like it most

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s